SIP Calculator: एसआईपी में निवेश को लेकर ये हैं 7 सबसे बड़े झूठ! जान लीजिए फायदे में रहेंगे

अगर आप भी Mutual Fund या SIP में निवेश करते हैं तो आपको भी कुछ झूठ या कहें तो Myth बताया जाता है जो हमारे निवेश के सफ़र में हमें काफी Confuse करता है. 

आज हम यहां आपको आपको सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) को लेकर ऐसे Myth यानी मिथक बताने जा रहे हैं जो आपको निवेश करने में कन्फ्यूज़ करते हैं. 

तो चलिय शुरू करते हैं :-

Common Myths of SIP | Mutual Fund का झूठ 

 

COMMON MYTHS OF SIP

 

1. SIP सिर्फ छोटे निवेशकों के लिय होता है. 

अगर आपको भी लगता है कि SIP सिर्फ छोटे निवेशक के लिए है तो ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है. क्योंकि SIP की शुरुआत छोटी रकम(फण्ड) से की जा सकती है लेकिन आप रकम बढ़ा भी सकते हैं.आप 1 लाख रुपये या इससे ज्यादा की भी SIP के जरिए म्यूचुअल फंड्स में निवेश कर सकते हैं. 

यह भी पढ़ें :-

2. SIP एक निवेश का Product है.

SIP का मतलब होता है, सिस्टमैटिक इनवेस्टमेंट प्लान यानी यह निवेश का तरीका है जिसके जरिए हमलोग म्यूचुअल फंड में निश्चित समय पर निवेश कर बढ़िया मुनाफा कमाते हैं. ध्यान रखें कि आप SIP के जरिए निवेश करते हैं न कि SIP में निवेश नहीं करते हैं. 

 

3. तेजी के समय SIP न करें 

लोगों में ये मिथक है कि बाजार में गिरावट हो तब SIP करना चाहिए. लेकिन यह बिल्कुल गलत है. जब आप लंबी अवधि के लिए SIP करते हैं तब उस पर उतार चढ़ाव का असर नहीं होता है. 

 

4. SIP की राशि को Change नहीं कर सकते हैं.

अगर आपको भी ऐसा लगता है कि एसआईपी के जरिए किए गए निवेश की रकम को आप बदल नहीं सकते तो आप इस भ्रम से बाहर आ जाएं. SIP एक फ्लेक्सिबल निवेश है, इसमें आप जब चाहें निवेश की राशि को घटा या बढ़ा सकते हैं. इसमें निवेश की समय सीमा को भी घटाया या बढ़ा सकते हैं.



 

 

5. बाजार के गिरावट में SIP रोक दें 

कुछ लोगों को ऐसा लागत है कि जब शेयर बाजार में गिरावट का माहौल हो तब SIP रोक देना चाहिए, जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है. SIP के जरिए निवेश करने का मकसद तब फेल हो जाता है जब आ गिरते बाजार में निवेश रोकते हैं. इस समय आप अच्छे म्यूचुअल फंड्स का चुनाव करें और रेगुलर SIP जारी रखें . 

 

6. एक SIP लम्बे समय तक चलायें 

लोगों का मानना है कि जब एक ही SIP की राशि को सालों तक जारी रखते हैं, तब उन्हें बड़ा मुनाफा मिलता है. बल्कि ऐसा नहीं है, उल्टे आपको समय-समय पर आपको SIP की रकम को भी बढ़ाते रहना चाहिए. फिर जैसे हर साल आपकी सैलरी बढ़ती है वैसे-वैसे SIP की रकम भी बढ़नी चाहिए. 

7. SIP में गारंटी Return मिलता है 

 

अगर आपको ऐसा लगता है कि SIP के जरिए म्यूचुअल फंड्स में निवेश से आपको रिटर्न गारंटी मिलती है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है, जबकि ऐसा नहीं है. दरअसल, म्यूचुअल फंड्स भी मार्केट लिंक्ड होते हैं इसलिए बाजार के ट्रेडिंग पर आपका रिटर्न भी प्रभावित होता है. 

2 thoughts on “SIP Calculator: एसआईपी में निवेश को लेकर ये हैं 7 सबसे बड़े झूठ! जान लीजिए फायदे में रहेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.